welcome Way For Education

welcome Way For Education

Village Life

Villgae Kahani

‘असली भारत गांवों में बसता है’


village



गांधी जी ने कहा था- ‘असली भारत गांवों में बसता है’ । भारतीय ग्राम्य-जीवन सादगी और प्राकृतिक शोभा का भण्डार है ।


अधिकांश ग्रामवासी किसान होते हैं । कठोर परिश्रम, सरल स्वभाव और उदार हृदय उनकी विशेषताएं हैं । सुबह जब किसान अपने खेतों में हल चलाता है, तो पक्षी उसके बैलों की गति के साथ श्रम की महिमा का संगीत छेड़ देते हैं । किसान स्वभाव से निश्छल होते हैं । सबके पेट भरकर और तन ढककर भी स्वयं रुखा सुखा खा लेते हैं ।


गांव की प्राकृतिक छटा मन मोह लेती है । दूर-दूर तक लहलहाते हुए हरे-भरे खेत और चारों तरफ रंग-बिरंगे फूल और उनकी फैली हुयी खुशबु मदहोश कर देती है । चारों तरफ चहचहाते हुए पक्षी मन मोह लेते हैं । सादगी और प्राकृतिक शोभा के भण्डार इन भारतीय गांवों कि भी अपनी कथा है ।

Read More

image 2
village



मध्यकाल में क्रूर जमींदारों और विदेशियों ने भोलेभाले ग्रामीण लोगों का जीवन नरक बना दिया था । सभी इनका शोषण करते थे । आजादी के बाद ग्रामीणों की दशा में कुछ सुधार हुआ । सरकार की तरफ से भी काफी योजनायें चलाई गई । आज भी भारत के बहुत से गांव उपेक्षित हैं । इसके लिए सरकार को अच्छे कदम उठाने की जरूरत है । तभी गांव का जीवन और अच्छा बन सकेगा ।

Most Imp Read : best-quotes-in-hindi

Bada Bhola Bada Sada Bada Sachha Hai,
Tere Shahar Se To Mera Gaanv Achha Hai,


Wahan Main Mere Pita Ke Naam Se Jana Jata Hu,
Aur Yahan Makan Number Se Pahchana Jata Hu,


Wahan Fate Kapdo Mein Bhi Tan Ko Dhanpa Jata Hai,
Yahan Khule Badan Par Tatu Chhapa Jata Hai,


Yahan Kothi Hai Bangle Hain Aur Kaar Hai,
Wahan Parivar Hai Aur Sanskaar Hain,


Mat Samjho Kam Hamein Ke Hum Gaanv Se Aaye Hain,
Tere Shahar Ke Bazaar Mere Gaanv Ne Hi Sajaye Hain,


Wahan Ijjat Mein Sar, Sooraj Ki Tarah Dhalte Hain,
Chal Aaj Hum Usi Gaanv Mein Chalte Hain,

Usi Gaanv Mein Chalte Hain…
Suggested by ABS Centar Godhra(Contact +919638887481)


Loading, please wait for a moment...




0 comments

Facebook Comment